नमाज पढ़ना हमारा हक

0
120

गुड़गांव  विवाद नमाज अदा करने से रोकने वाले 6 युवकों पर केस दर्ज करवाने वाले वाजिद खान नेहरू युवा संगठन के अध्यक्ष शहजाद ने सीएम के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताया मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर के बयान से अल्पसंख्यक समुदाय में नाराजगी ‘मस्जिदों, ईदगाहों और निजी स्थानों पर ही नमाज अदा की जानी चाहिए. सरकार सुनिश्चित करेगी कि कानून व्यवस्था बनी रहे.’ गुरुग्राम में कई जगहों पर नमाज अदा करने के दौरान दक्षिणपंथी संगठनों की तरफ से बाधा पहुंचाने की घटनाओं के बाद उनकी यह टिप्पणी महत्वपूर्ण है.

हमें मस्जिद के लिए जगह नहीं मिल जाती है तब तक हमें धार्मिक स्वतंत्रता है कि हम सरकारी खाली जमीन पर नमाज पढ़ लें.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here