एक विवाहित लड़की को नशे का इंजेक्शन देके 4 दिनों तक 40 लोगों ने किया गैंगरेप

मोरनी हिल्स गैंगरेप मामले में चौकी इंचार्ज और महिला SI सस्पेंड, 40 लोगों ने किया था गैंगरेप युवति ने अपने पति को फोन करने की कोशिश भी की लेकिन युवति से फोन छीन लिया गया।

0
302

मोरनी हिल्स गैंगरेप मामले में चौकी इंचार्ज और महिला SI सस्पेंड, 40 लोगों ने किया था गैंगरेप

मोरनी हिल्स में हुए गैंगरेप मामले में कार्रवाई करते हुए मोरनी चौकी इंचार्ज और एक महिला एएसआई को सस्पेंड कर दिया गया है। पंचकूला के डीसीपी राजिंदर मीना ने इस बात की पुष्टि की है। मामले में तीन आरोपियों को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पंचकूला डीसीपी राजेन्द्र कुमार मीना ने बताया कि अगर इस मामले को लेकर पंचकूला पुलिस की किसी प्रकार की लापरवाही सामने आती है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।वहीं डीसीपी ने बताया कि शुरुआत में केस चंडीगढ़ में दर्ज हुआ जिसे चंडीगढ़ पुलिस ने पंचकूला महिला थाने में ट्रांसफर किया गया है और अब आगे की करवाई पंचकूला पुलिस कर रही है।

जांच के लिए SIT गठित…

डीसीपी राजेन्द्र कुमार मीना ने पत्रकार वार्ता मेंं बताया कि मामले के संज्ञान में आते ही SIT गठित की गई है, जिसकी अध्यक्षता ACP अंशू सिंघला कर रही है।डीसीपी ने बताया कि मामले में चंडीगढ़ पुलिस ने 3 लोगों को अरेस्ट किया है और जिस का मामले में हाथ होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। डीसीपी ने बताया कि सुनील निवासी कुरुक्षेत्र, अवतार सिंह निवासी झांसी सहित 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।पुलिस ने बताया कि मुख्यारोपी सुनिल फोन से ही संदिग्घ एक्टिविटीज़ को संचालित कर रहा था और फ़िलहाल पंचकूला पुलिस ने गेस्ट हाउस की DVR चंडीगढ़ पुलिस से ले ली है।

इललीगल एक्टिविटीज को लेकर होटलों की लिस्ट भी तैयार…

वही पंचकूला पुलिस पर पीड़िता के पति ने आरोप लगाया था कि पंचकूला पुलिस ने शिकायत मिलने पर भी कार्रवाई नहीं की, इस पर बोलते हुए डीसीपी ने कहा कि मामले को लेकर पंचकूला पुलिस की तरफ से जिसने भी लापरवाही बरती होगी उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। मोरनी के अधिकतर इलाको में चल रहे देह व्यापार के बारे पूछे गए सवाल पर डीसीपी ने बताया कि पहले से ही महिला पुलिस DSP की अध्यक्षता में टीम बनाई गई है और इललीगल एक्टिविटीज को लेकर होटलों की लिस्ट भी तैयार की गई है और इलाके में इस प्रकार की गतिविधियां न हो इसके लिए लगातार चेकिंग की जा रही है ।

ये है पूरा मामला…

पंचकूला के मोरनी इलाके में 22 साल की युवति को बंधक बनाकर 40 लोगों ने तीन दिन तक गैंग रेप किया। युवति को नौकरी का झांसा देकर गेस्ट हाउस में बंधक बनाया गया था। पंचकूला पुलिस ने मामला दर्ज कर मुख्य आरोपी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के मुताबिक युवति चंडीगढ़ की रहने वाली है। इस युवति को मुख्य आरोपी नौकरी का झांसा देकर गगेस्ट हाउस ले आया। जहां उसे बंधक बना लिया गया। कई लोग दरिंदगी की हदें पार कर इसे युवति से तीन दिन तक रेप करते रहे। इस दौरान युवति ने अपने पति को फोन करने की कोशिश भी की लेकिन युवति से फोन छीन लिया गया। चौथे दिन युवति किसी तरह से गेस्ट हाउस से भागने में कामयाब हो गई और उसने पति को फोन से इसकी जानकारी दी। जिसके बाद युवति ने पुलिस का शिकायत दी।
हरियाणा के मोरनी हिल्स इलाके में दिल दहला देने वाली वारदात

एक विवाहित लड़की से 4 दिनों तक करीब 40 लोगों ने किया गैंगरेप

4 दिनों तक बंधक बनाकर नशे का इंजेक्शन देने के बाद एक के बाद एक करीब 40 लोगों ने किया गैंगरेप

पंचकूला के मोरनी हिल्स इलाके में गैंगरेप का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां हैवानियत की सारी हदें पार कर करीब 40 लोगों ने चंडीगढ़ निवासी 22 साल की युवती को बंधक बनाकर 4 दिनों तक गैंगरेप किया। घटना मोरनी स्थित गांव कैंबवाला के एक गेस्ट हाउस में हुई। एक के बाद एक दरिंदों ने पीड़िता के साथ गैंगरेप किया। ये सिलसिला चार दिन तक जारी रहा। इस बीच पीड़िता ने अपने पति को फोन करने की भी कोशिश की लेकिन होटल संचालक आरोपी सुनील कुमार उर्फ सन्नी ने उसका मोबाइल छीन लिया। चार दिन बाद पीड़िता किसी तरह जान बचाकर गेस्ट हाउस से बाहर आई और अपने पति को कॉल कर घटना की जानकारी दी। पति-पत्नी पहले मदद के पंचकूला पुलिस के पास गए तो उन्होंने बिना कारवाई किए चंडीगढ़ के मनीमाजरा थाने में भेज दिया। मनीमाजरा थाने में पीड़िता से पूरे मामले के बारे में पूछताछ की गई और पीड़िता का मेडिकल करवाकर एफआईआर दर्ज कर दी गई। मेडिकल में महिला के साथ रेप होने की पुष्टि हुई है। वहीं पुलिस ने गुरुवार को पीड़िता के कोर्ट में 164 के बयान दर्ज करवाए। मामले में चंडीगढ़ के मनीमाजरा थाने की पुलिस ने गेस्ट हाउस के संचालक सुनील कुमार उर्फ सन्नी व अन्य के खिलाफ गैंगरेप व अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस ने मुख्य आरोपी सन्नी व एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है।

पीड़िता का पति चंडीगढ़ में टेलर का काम करता है। गेस्ट हाउस का संचालक आरोपी सन्नी उसे एक बार किसी व्यक्ति के जरिए मिला था। इस दौरान पीड़ित महिला को नौकरी लगवाने के लिए सन्नी की उससे से बात हुई। सन्नी ने उसे कहा कि वो उसकी पत्नी को अपने फार्म हाउस पर साफ-सफाई की नौकरी दे देगा और इसके बदले में उसे प्रति माह 12 हजार रुपये देने की बात की गई। जिसके बाद वो अपनी पत्नी को नौकरी पर भेजने के लिए राजी हो गया। रविवार दोपहर वो अपनी पत्नी को मोटरसाइकिल पर रामगढ़ ले गया। जहां पुल के नीचे सफेद रंग की ऑल्टो कार खड़ी थी, जिसमें सन्नी बैठा हुआ था। सन्नी वहां से उसकी पत्नी को बिठाकर मोरनी के जंगलों के बीच गांव कैंबवाला स्थित लवली गेस्ट हाउस में ले गया, जिसे आरोपी फार्म हाउस बता रहा था। गेस्ट हाउस में जाने के बाद आरोपी सन्नी ने पीड़िता को नशे की दवाई दे दी और एक कमरे में बंद कर दिया। जब युवती को होश आया तो उसने अपने पति को कॉल करनी चाही, लेकिन सन्नी ने उसका मोबाइल फोन झपट लिया। जिसके बाद पीड़िता को नशे की दवाई दी जाती रही और सन्नी खुद भी और अपने साथियों से भी पीड़िता का रेप करवाता रहा। शनिवार से बुधवार तक 4 दिनों में उसके साथ लगभग 40 लोगों ने गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। एक दिन में 10 लोग रेप करते थे।

फिलाल पुलिस ने इस मामले में गैंग रेप का मुकदमा दर्ज करके आरोपी सन्नी और उसके एक साथी को गिरफ्तार कर लिया है और पीड़िता के बयानों के आधार पर गैंगरेप के अन्य आरोपियों को पकड़ने की भी कोशिश की जा रही है। वारदात पंचकूला के इलाके में होने की वजह से अब चंडीगढ़ पुलिस केस की आगे की इन्वेस्टिगेशन पंचकूला पुलिस को ट्रांसफर कर रही है।

रंजीत सिंह, एसएचओ, मनीमाजरा थाना, चंडीगढ़ पुलिस

गैंगरेप की इस घटना ने साफ कर दिया है कि चंडीगढ़ जैसे हाई प्रोफाइल शहर में भी महिलाएं सुरक्षित नहीं है और समाज में घिनौनी मानसिकता वाले लोगों को पुलिस का भी खौफ नहीं है। जिस तरह से इस गैंगरेप के मामले में पीड़िता को 4 दिनों तक बंधक बनाकर गैंगरेप किया गया उससे साफ है कि देश में महिलाओं के सुरक्षा के हालात क्या है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here