जल-थल-नभ में शूटिंग के लिए  वी एम लोकेशंस की कामयाब जद्दोजहद !

लोकेशन होगा हिट तो शूटिंग होगी फिट - लाइन प्रोड्यूसर विनय मिश्रा

0
205

जल-थल-नभ … शूटिंग तो कहीं भी करने की स्टोरी डिमांड हो सकती है। ऐसे में शांतिपूर्ण ढंग से पूरी ऊर्जा के साथ शूटिंग कराने के लिए टीवी सीरियल, वेब सीरीज़ या फ़िल्म का मेकर यही चाहेगा कि स्टोरी की मांग के अनुसार खूबसूरत व जरूरी लोकेशन तक कोई शख्स उसे न सिर्फ पहुंचाए बल्कि बिना व्यत्यय, बिना विघ्न के आराम से वह उसकी शूटिंग पूरी भी करा सके। अब ऐसे में आवश्यकता होती है उस लोकेशन मैनेजर व लाइन प्रोड्यूसर की जो उसकी शूटिंग का संकटमोचक बनकर शुरू से अंत तक न सिर्फ खड़ा रहेगा बल्कि अगर कोई परेशानी आ भी जाती है तो उसके लिए विघ्नों का पूरा सामना करते हुए उसकी शूटिंग पूरी कराने की क़ूवत रखता हो। 150-200 लोगों की कास्ट व क्रू की यूनिट का वह कवच-कुंडल बना रहे। कुछ ऐसी ही सेवाएं बॉलीवुड की दुनिया को दे रहे हैं वी एम लोकेशन्स के सीईओ लाइन प्रोड्यूसर व लोकेशंस के किंग विनय मिश्रा। जिनका नाम इस क्षेत्र में आज बॉलीवुड का अनुभवी व भरोसेमंद शख्सियत

के रूप में लिया जाता है। एक ऐसा शख्स जिसके लोकेशनों व उनकी टीम की जिम्मेदारी से परिपूर्ण प्रोफेशनल सर्विस ने बॉलीवुड की अकीरा, कमांडो 3, हेट स्टोरी, सनम रे सहित कई दर्जन फिल्मों, कई दर्जन सीरियलों व वेब सीरीज़ की शूटिंग को एक दिशा व जगह दी। निर्विघ्न शूटिंग पूरी कराकर सिद्ध किया कि अनुभव व मजबूत टीम ज्यादा भरोसेमंद भी होती है और उपयोगी भी। प्रस्तुत है वी एम लोकेशंस के मालिक विनय मिश्रा से हुई लम्बी बातचीत के प्रमुख अंश…

* सबसे पहले अपने बारे में हमारे रीडर्स को  कुछ बताएं ?

– उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिलान्तर्गत केराकत का मूल निवासी हूँ। शिक्षा-दीक्षा के उपरान्त पहले कोलकाता का रुख किया था। वहां  20-25 बाड़ी का काम देख रहा था। आय अच्छी थी , बावजूद इसके उस काम मे मन नहीं लग रहा था। बार-बार  लगता था कि कोलकाता की बजाय अगर  मुम्बई जाता हूँ तो सपनों की उड़ान को पंख मिलेगा, मेरा देखा स्वप्न

साकार होने में मदद मिलेगी। पहले से ही बॉलीवुड में विशेष रुचि थी। फिर एक दिन कोलकाता को आखिरी प्रणाम करके मुम्बई आ गया। यहां शुरुवात में एक बड़े व बेहद नामचीन बिल्डर के यहां फ्लैट-शॉप्स को सेल करने का काम शुरू कर दिया। पर उस बिल्डर से नहीं जमीं। मैंने वो काम छोड़ दिया व तय कर लिया कि अब कुछ ऐसा काम करूँगा जो औरों से हटकर भी हो और जो मेरे सपनों को भी पूरा करे।

* यानि कि बॉलीवुड ने अपनी ओर आकर्षित कर ही लिया ?
– हाँ, मेरे एक मित्र ने 2009 में मुझे एक प्रोड्यूसर से मिलवाया और फिर उनके संग मैंने प्रोडक्शन मैनेजर के रूप में काम शुरू कर दिया। टी वी सीरियल बड़की मलकाइन से टीवी की दुनिया में आया था। इस सीरियल के बाद सहारा 1 की सीरियल पिया का घर के प्रोडक्शन का काम सम्भाला। इसके तुरंत एक फ़िल्म मिली – जयंती भाई की लव स्टोरी। इसके बाद तो  काम चल निकला था। कभी लोकेशन मैनेजर तो कभी लाइन प्रोड्यूसर के रूप में बॉलीवुड को अपनी सेवाएं देता रहा।
* आपकी अन्य फिल्में, वेब सीरीज़ और धारावाहिक कौन से हैं जिनके लोकेशन्स की जिम्मेदारी आपने व आपकी टीम ने संभाली ?

– प्रोडक्शन के काम से मैंने कैरियर की शुरुवात की थी। जयंता भाई की लव स्टोरी, एक विलेन, हॉफ गर्लफ्रेंड, रंगरेज़ जैसे क्रिएशन से जुड़ा रहा। अकीरा, सनम रे, हेट स्टोरी, मरजावां,  पागलपंथी व खुदा हाफ़िज़ जैसी बड़े बजट की फिल्मों को हमने न सिर्फ अपनी सेवाएं दीं बल्कि बॉलीवुड में अपने लिए एक खास मकाम भी बना लिया। मुझे लोकेशन किंग कहा जाने लगा। दर्जनों फिल्मों और अनगिनत वेब सीरीज़ तथा शार्ट फिल्मों को हमने अपनी सेवाएं दीं हैं। बी एम लोकेशन के नाम से मैंने अपनी कम्पनी शुरू की थी जो इस समय दर्जनों फिल्मों व वेब सीरीज़ के लिए लोकेशन के लिए अपनी सेवाएं दे रही है। जमीन पर उत्कृष्ट लोकेशनों के लिए प्रतिबद्ध व बेहद सफल मेरी वी एम लोकेशंस कम्पनी आसमान में भी ग्राफ खींचने की दिशा में पूरा फोकस कर चुकी है। शूटिंग के लिए हेलीकॉप्टर और जहाज उपलब्ध कराने की दिशा में हमने गत 5 वर्षों से सफलतापूर्वक कार्य किया ही है। जल्द ही पवन हंस पर एक बड़े बजट की फ़िल्म के लिए एक बार फिर हेलीकॉप्टर में शूटिंग कराने के लिए हम तैयारी कर रहे हैं। हाँ एक खास बात और कहूंगा कि वेब सीरीज़ बॉम्बे डायरी आपलोग अवश्य देखिएगा। जो काम यहां पर मेरी लोकेशनों पर हुआ है वह हॉलीवुड को भी चौंका देगा।
* शूटिंग के लिए प्लेन और हेलीकॉप्टर जैसी सुविधाएं भी आपकी कम्पनी ने मुहैया कराई ?
– हाँ जी अमित जी बिल्कुल… इन फैक्ट प्लेन और हेलीकॉप्टर सेवाओं के लिये हमारी विशेष मास्टरी है। हमने अनगिनत काम यहां इसप्रकार का किया है। बॉलीवुड में युआरे के लिए प्लेन तो सीरियल इश्कबाज़, वेब सीरीज़ सेक्रेड गेम, फ़िल्म कमांडो 3, सीरियल संजीवनी इन सभी के लिए हेलीकॉप्टर व लोकेशनों के अलावा हॉलीवुड के ऑस्कर प्राप्त डायरेक्टर की फ़िल्म टैनेट – मेरी गो अराउंड के लिए भी मैंने हेलिकॉप्टर व लोकेशन जैसे सेवाएं दीं हैं।जल-थल-नभ में शूटिंग के लिए  वी एम लोकेशंस की कामयाब जद्दोजहद रही है और हमेशा हम सक्सेस भी रहे !

* क्या है ये लोकेशन की दुनिया , दर्शकों को इस बारे में अधिक नहीं पता है ?
– अस्पताल का शूट हो या किसी स्विमिंग पूल का, बंगला हो या फ्लैट अथवा झोपड़ा हो , फाइव स्टार होटल जैसी जगह , तबेला किला , भूत बंगला या गोडाउन में शूट करना हो अथवा नदी, टापू, बग़ीचा,पहाड़ , मैदान अथवा सड़क पर शूट हो । इसी तरह आसमां में प्लेन या हेलीकॉप्टर का शूट हो अथवा समन्दर में किसी क्रूज़ या बोट में शूटिंग हो, बिना लोकेशंस वालों के ये शूटिंग सम्भव नहीं है।
*  काम का जिम्मेदारियां व दिक्कतों पर भी विस्तार से बताएं ।
– कहने के लिए तो बॉलीवुड में तमाम लोग होंगे जो ऐसी सेवाएं देने के प्रयास में होंगे। पर अनुभव, कॉंटेक्ट्स, लो रेट में भी शानदार काम का जादू कैसे चला पाएंगे। रही बात जिम्मेदारियों व दिक्कतों की तो  हर आउटडोर शूटिंग के लिए बी एम सी, ट्रैफिक, पुलिस में अनेकों तरह का परमिशन निकालना, इसके बाद अगर छुटभैये नेता या लोकल गुंडों का सिरदर्द आये तो वह भी फेस करना इसी काम का हिस्सा है।
* क्या आप महत्वाकांक्षी हैं ?
– हांजी बिल्कुल, सफलता कौन नहीं चाहता। हर कोई महत्वाकांक्षी होता है। होना भी चाहिए। पर महत्वाकांक्षी होने के साथ-साथ संघर्षशील औऱ मेरी तरह कर्म वे विश्वास रखने वाला हो तो सोने पर सुहागा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here