पुलिस कार्रवाई से सरकार और बीजेपी की छवि पर आंच आई उमा भारती

0
146

हाथरस कांड

यूपी के हाथरस में एक दलित युवती के साथ हुए बलात्कार (Hathras Gangrape) के मामले ने अब राजनीतिक रूख अख्तियार कर लिया है. अब इस घटना पर पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती (Uma Bharti) ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि हमने रामराज्य लाने का दावा किया है, लेकिन इस घटना में पुलिस की संदेहपूर्ण कार्यवाही से आपकी (योगी आदित्यनाथ), यूपी सरकार और बीजेपी की छवि पर आंच आई है.

इस घटनाक्रम का जिक्र करते हुए शुक्रवार को उमा भारती ने एक के बाद एक कई ट्विटस किए. उमा भारती ने सीएम योगी से अपील की है कि वे मीडियाकर्मियों और राजनीतिक दलों के लोगों से पीड़ित परिवार से मिलने दें. साथ ही उन्होंने कहा कि कोरोना से ठीक होने के बाद मैं खुद पीड़ित परिवार से मिलने के लिए हाथरस जाउंगी.

उमा भारती ने एसआईटी जांच भी उठाए सवाल!
उमा भारती ने आगे लिखा, ‘मैंने हाथरस की घटना के बारे में देखा. पहले तो मुझे लगा कि मैं ना बोलू क्योंकि आप इस संबंध में ठीक ही कार्यवाही कर रहे होंगे. किन्तु जिस प्रकार से पुलिस ने गांव की एवं पीड़ित परिवार की घेराबंदी की है, उसके कितने भी तर्क हों लेकिन इससे विभिन्न आशंकाए जन्मती हैं. वह एक दलित परिवार की बिटिया थी. बड़ी जल्दबाजी में पुलिस ने उसकी अंत्येष्टि की और अब परिवार एवं गांव की पुलिस के द्वारा घेराबंदी कर दी गई है.’ उन्होंने आगे लिखा, ‘मेरी जानकारी में ऐसा कोई नियम नहीं है की एसआईटी जांच में परिवार किसी से मिल भी न पाए. इससे तो एसआईटी की जांच ही संदेह के दायरे में आ जाएगी.’

एम्स ऋषिकेश में भर्ती हैं उमा भारती
उमा भारती ने लिखा, ‘मैं कोरोना वार्ड में बहुत बैचेन हूं. अगर मैं कोरोना पॉजिटिव ना होती तो मैं भी उस गांव में उस परिवार के साथ बैठी होती. एम्स ऋषिकेश से छुट्टी होने पर मैं हाथरस में उस पीड़ित परिवार से जरूर मिलूंगी. उन्होंने कहा, ‘मैं बीजेपी में आपसे वरिष्ठ एवं आपकी बड़ी बहन हूं. मेरा आग्रह है कि आप मेरे सुझाव को अमान्य मत करिएगा.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here