Home Blog Page 2

यूपी के अस्पतालों पर विवादित बयान देना AAP विधायक सोमनाथ भारती को पड़ा महंगा, 14 दिन की न्यायिक हिरासत

0

आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती (AAP MLA Somnath Bharti) को उत्‍तर प्रदेश के अस्पतालों पर विवादित बयान देना महंगा पड़ गया है. दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री और मौजूदा विधायक को कोर्ट से बड़ा झटका लगा है और उन्‍हें 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया है. दरअसल, एमपी-एमएलए कोर्ट के जज पीके जयंत ने उनकी जमानत अर्जी खारिज करते हुए सुनवाई के लिए 13 जनवरी की अगली तारीख तय की है. फिलहाल आप विधायक अमहट जेल में रहेंगे.

बता दें कि सोमनाथ भारती को यूपी के अस्पतालों पर दिए गए विवादित बयान को लेकर अमेठी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और अमेठी के जायस में स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर आप विधायक का मेडिकल परीक्षण कराया गया और फिर वहां से उन्हें सुल्तानपुर के दीवानी न्यायालय में पेश किया गया. इस दौरान एमपी-एमएलए कोर्ट में सुनवाई करते हुए अदालत ने भारती की जमानत अर्जी खारिज कर दी. फ़िलहाल कोर्ट ने सोमनाथ भारती को 14 दिनों के लिए जेल भेज दिया है. जेल भेजे जाने की सूचना जैसे ही आप कार्यकर्ताओं को लगी तो उन्होंने दीवानी के बाहर ही प्रदर्शन करना शुरू कर दिया और योगी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करने लगे. उनके खिलाफ जगदीशपुर कोतवाली में धारा 505 और 153A के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था.
सोमनाथ भारती के अधिवक्ता संतोष पांडेय की मानें तो अमेठी पुलिस द्वारा गलत तरीके से रिमांड लिया गया था, जिसे रिफ्यूज करने के लिए अदालत में प्रार्थना की गई, लेकिन अदालत में उसे न मानते हुए 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया. इस मामले पर अगली सुनवाई 13 जनवरी को होनी है. वहीं, सोमनाथ के अधिवक्ता ने हाइकोर्ट में रिट दायर करने की बात कही है.
बता दें कि अमेठी में शनिवार को आप विधायक सोमनाथ भारती ने योगी सरकार पर तंज कसते हुए उन्‍होंने कहा, ‘हम उत्तर प्रदेश में आए हैं. हम यहां के स्कूलों को देख रहे हैं. यहां के अस्पताल को देख रहे हैं. ऐसी बदतर हालत में हैं कि अस्पतालों में बच्चे तो पैदा हो रहे हैं, लेकिन कुत्तों के बच्चे पैदा हो रहे हैं.’

विवादित बयान के बाद आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती के ऊपर सोमवार को रायबरेली में एक युवक ने काली स्याही फेंक दी. घटना रायबरेली के सिंचाई विभाग गेस्ट हाउस में उस समय हुई, जब आप नेता जिले के अस्पतालों का दौरा करने वाले थे. बीजेपी और हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने आप नेता पर काली स्याही फेंक दी. इस दौरान विधायक की पुलिस के अधिकारियों के साथ नोकझोंक भी हुई. इसके बाद उन्‍हें गिरफ्तार कर सिंचाई विभाग के गेस्ट हाउस में रखा गया. बाद में उन्‍हें एस्कॉर्ट करवा कर अमेठी की तरफ रवाना कर दिया गया.

सड़क हादसे में केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक गंभीर रूप से घायल, पत्नी और PA की मौत

0
सड़क हादसे में केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक गंभीर रूप से घायल, पत्नी और PA की मौत

उत्तरा कन्नड़ जिले में दुर्घटना स्थल से दृश्य सफेद कार से पता चलता है कि केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक और उनकी पत्नी आम की हालत में यात्रा कर रहे थे।
केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक (Union Minister Sripad Naik) की गाड़ी सोमवार को हादसे का शिकार हो गई. प्राप्त जानकारी के मुताबिक केंद्रीय मंत्री की गाड़ी उत्तर कन्नड़ (North Kannada) के अंकोला (Ankola) में दुर्घटनाग्रस्त हो गई. हादसा उस समय हुआ जब नाइक अपनी पत्नी विजया नाइक के साथ येल्लापुर से गोकर्ण जा रहे थे. नाइक और उनकी पत्नी को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी पत्नी की मृत्यु हो गई. नाइक का इलाज जारी है. पुलिस ने इस संबंध में केस भी दर्ज कर लिया है. नाइक की पत्नी के निधन पर कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा ने शोक जताया है. हादसे में नाइक के पर्सनल असिस्टेंट का भी निधन हो गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत से केंद्रीय मंत्री को बेहतर इलाज मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं. पीएम की ओर से कहा गया है कि सावंत यह सुनिश्चित करें कि केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक का गोवा में भली प्रकार से इलाज हो सके. बता दें नाइक को पहले कर्नाटक में ही एक अस्पताल में भर्ती किया गया था, बाद में उन्हें गोवा के अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती किया गया है.

अंकोला पुलिस के अनुसार, केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक और उनकी पत्नी विजया नाइक येलपुर के प्रसिद्ध गंटे गणेश (बेल गणेश) मंदिर में पूजा-अर्चना कर लौट रहे थे। (मंदिर से छवि)

सड़क हादसे में केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक गंभीर रूप से घायल, पत्नी और PA की मौत

कश्यप भवन में हर साल की तरह इस साल की दूध और गरम पकोड़े का लंगर लगाया गया

0

कश्यप भवन में हर साल की तरह इस साल की दूध और गरम पकोड़े का लंगर

लगाया गया लंगर को मेयर द्वारा और अलग-अलग प्रतिष्ठित व्यक्ति द्वारा अपना सहयोग दिया गया कश्यप भवन के प्रेसिडेंट ओपी मेहरा और एनपी मेहरा चेयरमैन द्वारा बताया गया यह उत्सव हम अपने सहयोगी द्वारा मिलकर हर साल करते हैं और भी कई प्रोग्राम

जिनके द्वारा गरीब लोगों की शादियां और कन्या को कन्यादान भी प्रदान करते हैं आज इस लंगर में गर्म दूध और पकोड़े का इंतजाम रखा गया है कश्यप भवन सेक्टर 37 चंडीगढ़

एग्री किया तो प्राइवेसी खत्म होगी, नहीं किया तो अकाउंट डिलीट वॉट्सऐप नई पॉलिसी

0

वॉट्सऐप की नई पॉलिसी: एग्री किया तो प्राइवेसी खत्म होगी, नहीं किया तो अकाउंट डिलीट करना होगा; सवाल-जवाब में समझें आप पर इसका क्या असर होगा?Google, Cisco and VMware join Microsoft to oppose NSO Group in WhatsApp  spyware case | TechCrunch
वॉट्सऐप यूजर्स के लिए नया साल नई शर्तों के साथ शुरू हुआ है। शर्तें भी ऐसी जिन्हें नहीं माना तो अकाउंट डिलीट करना होगा। शर्तें मानना है या नहीं, इस बारे में सोचने के लिए 8 फरवरी तक का वक्त है। दुनियाभर में 200 करोड़ से ज्यादा यूजर्स वॉट्सऐप इस्तेमाल करते हैं। इन शर्तों से जुड़े कई सवाल दिमाग में उठ रहे होंगे। हम ऐसे ही इनके जवाब दे रहे हैं।

1. क्या है वॉट्सऐप की नई पॉलिसी?
वॉट्सऐप पर नए टर्म्स और प्राइवेसी पॉलिसी का अपडेट मिलने लगा है। इसमें लिखा है कि यूजर्स को ये पॉलिसी एग्री करना होगी। ये 8 फरवरी, 2021 से लागू हो रही है। इस तारीख के बाद इसे एग्री करना जरूरी होगी। यदि एग्री नहीं करते हैं तब अकाउंट का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। इसके लिए आप हेल्प सेंटर पर विजिट कर सकते हैं। अभी पॉलिसी में एग्री और नॉट नाउ का ऑप्शन मिल रहा है।

इसमें लिखा है कि हमारी सर्विसेज को ऑपरेट करने के लिए आप वॉट्सऐप को जो कंटेंट अपलोड, सबमिट, स्टोर, सेंड या रिसीव करते हैं, कंपनी उन्हें कहीं भी यूज, रिप्रोड्यूस, डिस्ट्रीब्यूट और डिस्प्ले कर सकती है।

2. वॉट्सऐप ने ऐसा फैसला क्यों लिया?
इस पॉलिसी को एग्री करने के बाद वॉट्सऐप अपनी 200 करोड़ से ज्यादा यूजर्स का डेटा एक्सेस कर पाएगी। यानी वो उनके डेटा को दूसरे प्लेटफॉर्म पर शेयर भी कर पाएगी। नई पॉलिसी के नोटिफिकेशन में उसने साफ लिखा है कि अब वॉट्सऐप आपकी हर सूचना अपनी पेरेंट कंपनी फेसबुक और इंस्टाग्राम के साथ शेयर करेगा। यानी वॉट्सऐप अपने यूजर्स के डेटा का इस्तेमाल करके पैसे भी कमा सकती है।

3. पॉलिसी का यूजर पर क्या असर होगा?
ये तय हो चुका है कि आप वॉट्सऐप चलाते हैं तब ये पॉलिसी एग्री करना होगी। यानी न चाहते हुए भी आपको अपने वॉट्सऐप की प्राइवेसी कंपनी के साथ शेयर करना होगी। यानी वॉट्सऐप अब आपके डेटा पर पूरी नजर रखेगी और आपकी प्राइवेसी पूरी तरह खत्म हो जाएगी। इस बात को ऐसे समझें…

•खर्च से तय होंगे विज्ञापन: वॉट्सऐप आपके बैंक का नाम, कितनी राशि और डिलीवरी का स्थान सभी ट्रैक करेगा। इससे फेसबुक-इंस्टाग्राम भी आपके फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन जान जाएंगे। ट्रांजेक्शन डिटेल से कंपनी आपकी प्रोफाइलिंग करेगी। यानी आप इडली-डोसा खाते हैं तो अमीर आदमी नहीं हैं। स्टारबक्स जाते हैं तो अमीर हैं। फिर आपको महंगी गाड़ियों के विज्ञापन दिखने लगेंगे।

•आईपी एड्रेस और लोकेशन ट्रेस होगी : वॉट्सऐप ने विकल्प दिया है कि यूजर अपनी लोकेशन एक्सेस डिसेबल कर सकते हैं। हालांकि उसने यह भी कहा है कि आईपी एड्रेस और मोबाइल नंबर से अंदाजा लग जाएगा आप कब-कहां जाते हैं।

•स्टेटस भी सुरक्षित नहीं: वॉट्सऐप आपका स्टेटस भी पढ़ेगा। जोखिम यह है यदि आपने लिखा- बताओ कौन सी गाड़ी खरीदूं। तो फेसबुक-इंस्टाग्राम भी इसे पढ़ेंगे और आपको कार, बाइक के विज्ञापन दिखने लगेंगे। ठीक ऐसे ही यदि आपने लिखा- घूमने कहां जाना चाहिए। तब आपके सोशल पेज पर कई टूर से जुड़े विज्ञापन आएंगे।

•कंटेंट पर सजेशन और एनालिसिस मिलेगा: वॉट्सऐप आपको दोस्तों, ग्रुप्स, कंटेंट आदि के सजेशन भी देगा। एक तरह से वॉट्सऐप आपकी हर हरकत पर नजर रखेगा और उसका एनालिसिस करेगा। फेसबुक इसी आधार पर आपको शॉपिंग, प्रोडक्ट के विज्ञापन दिखाएगा।

•कॉल पर भी होगी नजर: कंपनी को पता होगा आप किसे कितने वॉट्सऐप कॉल करते हैं? किस ग्रुप में ज्यादा सक्रिय हैं? ब्रॉडकास्ट लिस्ट कितनी है? फोटो-वीडियो फॉरवर्ड करने पर सर्वर पर अधिक समय स्टोर रहेंगे। उसे पता होगा कौन-सा कंटेंट ज्यादा फॉरवर्ड हो रहा है। फेक न्यूज ट्रैक करने व चुनाव के समय ये जानकारी अहम होगी। बिजनेस अकाउंट से शेयर होने वाले कैटलॉग का एक्सेस भी वॉट्सऐप के पास होगा।

4. क्या पॉलिसी को एक्सेप्ट करना चाहिए?
नई पॉलिसी का यूजर की प्राइवेसी पर गहरा असर होने वाला है। यानी आप जैसे ही कंपनी की नई पॉलिसी को एग्री करते हैं, उसे अपने डेटा का एक्सेस करने के राइट्स भी दे देंगे। समस्या ये है कि वॉट्सऐप चलाना है तब पॉलिसी को एग्री करना जरूरी है। क्योंकि 8 फरवरी के बाद तो पॉलिसी मानना ही पड़ेगी। यदि एग्री नहीं करते तो वॉट्सऐप अकाउंट को डिलीट करना पड़ेगा।

5. कंपनी की एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड पॉलिसी का क्या हुआ?
वॉट्सऐप अपनी एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड पॉलिसी में इस बात का दावा करती थी कि आपके मैसेज, डेटा उसके पास भी नहीं रहता। 8 फरवरी के बाद ये खत्म हो जाएगी। कंपनी ने अपनी इस पॉलिसी में लिखा था कि आपकी प्राइवेसी और सुरक्षा हमारे लिए सबसे ऊपर है, इसलिए हमने आपके लिए एंड टू एंड एन्क्रिप्शन फीचर तैयार किया है।

एंड-टू-एंड एन्क्रिप्ट होने से आपके मैसेज, फोटो, वीडियो, वॉइस मैसेज, डॉक्यूमेंट, स्टेटस और कॉल सुरक्षित हो जाते हैं और कोई उनका गलत इस्तेमाल नहीं कर सकता है। एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन फीचर से यह पक्का हो जाता है कि मैसेज और कॉल सिर्फ आपके और आपके कॉन्टैक्ट के बीच ही रहें। कोई और, यहां तक कि वॉट्सऐप भी उन्हें पढ़, सुन और देख न पाए।

पटियाला पुलिस ने भड़काऊ गाना गाने के आरोप में गायक बराड़ को गिरफ्तार किया

0

पटियाला पुलिस ने भड़काऊ गाना गाने के आरोप में गायक बराड़ को गिरफ्तार किया: एस.एस.पी. दुग्गल
-S.S.P. सख्त चेतावनी, अपराध को बढ़ावा देने वालों को बख्शा नहीं जाएगा
पटियाला, 5 जनवरी:
पटियाला पुलिस ने गायक सिल्वर खुर्शीद, जिला हनुमानगढ़, जिला हनुमानगढ़, राजस्थान के निवासी गुरदीप सिंह के पुत्र बराड़ उर्फ ​​पवनदीप को सेक्टर 91, मोहाली से गिरफ्तार किया है। S.S.P. श्री विक्रम जीत दुग्गल ने कहा कि इस गायक द्वारा गाया गया गीत ‘जान’ को अपराधियों को आश्रय देने के लिए सराहा गया है, जिससे जेलों और पुलिस थानों में बैठे अपराधियों की रिहाई को बढ़ावा मिलता है, जिससे अपराधियों को घृणा होती है। अपराध करने के लिए प्रोत्साहन है। S.S.P. उन्होंने चेतावनी दी कि पुलिस ऐसे व्यक्तियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी, जिससे गंभीर अपराधों को बढ़ावा मिलेगा।
S.S.P. पटियाला पुलिस ने गायक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। नंबर 2 दिनांक 3 जनवरी, 2021 सेक्शन 3, 500, 501, 502, 505, 115, 116, 120 बी के तहत पुलिस इंस्पिरेशन टू डिसइनफेक्शन एक्ट 1922 के तहत पुलिस स्टेशन सिविल लाइन में दर्ज किया गया था। इसकी जांच एसपी ने की थी। सिटी वरुण शर्मा, एसपी जांच हरमीत सिंह हुंदल, डीएसपी केके की जाँच करें पंथ के नेतृत्व में।
दुग्गल ने कहा कि गायक बराड़ को सीआईए स्टाफ पटियाला प्रभारी राहुल कौशल ने आज मोहाली से गिरफ्तार किया। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा गाया गया गीत आम आदमी और युवाओं को गुमराह करने के साथ-साथ उन्हें अपराध करने के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से था। इसी समय, लोगों के बीच कानून और व्यवस्था की छवि बिगड़ रही थी और लोगों के बीच भय गायब हो रहा था, जिसके लिए ऐसे व्यक्तियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
S.S.P. विक्रम जीत दुग्गल ने कहा कि पुलिस ने सोशल मीडिया पर कुछ लोगों द्वारा यू-ट्यूब पर ‘जान’ गाने को अपलोड किया था जिस में पुलिस के बारे में गलत शब्दावली का इस्तेमाल हुआ था और इस मे।पटियाला।जिले।के नाभा शहर के थाने को दिखाया गया
जिस में गोलियां।चलाकर गैंगस्टर को छुड़वाया जाता है
श्री दुग्गल ने कहा कि गाने में गीतात्मक उच्चारण के कारण कानून, सरकार और पुलिस प्रशासन पर बोझ के कारण समाज में कानून और व्यवस्था की स्थिति को नुकसान पहुँचा है। उन्होंने चेतावनी दी कि पुलिस ऐसे व्यक्तियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी, जो गंभीर अपराधों को बढ़ावा देंगे।

चंडीगढ़ सुखना लेक में मरा मिला प्रवासी पक्षी .बर्ड फ्लू’ के चलते शासन-प्रशासन अलर्ट,हरियाणा और पंजाब की राजधानी केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ में भी एक प्रवासी पक्षी मृत पाया

0

चंडीगढ़ सुखना लेक में मरा मिला प्रवासी पक्षी .बर्ड फ्लू’ के चलते शासन-प्रशासन अलर्ट,हरियाणा और पंजाब की राजधानी केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ में भी एक प्रवासी पक्षी मृत पाया गया है| चंडीगढ़ की सुखना लेक में प्रवासी पक्षी मृत (Sukhna lake Dead bird) मिला है| वहीँ शहर से सटे पंचकूला में मुर्गे-मुर्गियों की मौत से ही चंडीगढ़ प्रशासन पहले से ही अलर्ट पर है और अब सुखना लेक में पर पक्षी के मरने पर प्रशासन में हड़कंप मच गया है| मृत मिले पक्षी का सैंपल जालंधर लेबोरेट्री में टेस्ट के लये भेजा गया है और चंडीगढ़ में माॅनिटरिंग और सर्विलांसिंग तेज कर दी गई है।इसके साथ शहर में पोल्ट्री फार्म मालिकों को भी अलर्ट कर दिया गया है। वन विभाग के साथ पशु-पक्षी पालन विभाग मामले पर नजर रखे हुए है|चंडीगढ़ के जलाशयों की चेकिंग की जा रही है|.

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने बुधवार को प्रधानमंत्री से अपील करते हुए कहा कि किसानों की माँगों में कुछ भी गलत नहीं तुरंत ही रद्द कर देना चाहिए।

0
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने बुधवार को प्रधानमंत्री से अपील करते हुए कहा कि किसानों की माँगों में कुछ भी गलत नहीं तुरंत ही रद्द कर देना चाहिए।
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने बुधवार को प्रधानमंत्री से अपील करते हुए कहा कि किसानों की माँगों में कुछ भी गलत नहीं तुरंत ही रद्द कर देना चाहिए।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने बुधवार को प्रधानमंत्री से अपील करते हुए कहा कि किसानों की माँगों में कुछ भी गलत नहीं है इसलिए समस्या से निपटने हेतु खेती कानूनों को तुरंत ही रद्द कर देना चाहिए।

· मीडिया के एक हिस्से में प्रसारित हो रही रिपोर्टों कि पंजाब द्वारा नये खेती कानून पहले ही लागू कर दिए गए हैं, को बेहद ग़ैर-जिम्मेदाराना कहकर रद्द करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि खाद्य मंत्री भारत भूषण आशु के बयान को एक अखबार द्वारा गलत तरीके से और ही रंगत दे दी गई जिसको अन्यों ने छाप दिया।

· मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि पंजाब केंद्रीय खेती कानूनों का विरोध करने वाला पहला राज्य था और यहाँ तक कि राज्य द्वारा संशोधन बिल भी पास किये गए जिससे इन बिलों के कृषि क्षेत्र पर पडऩे वाले बुरे प्रभावों का प्रभाव ख़त्म किया जा सके। उन्होंने इस मुद्दे सम्बन्धी भ्रामक प्रचार किये जाने के लिए आम आदमी पार्टी (आप) को भी आड़े हाथों लिया।

· उन्होंने आगे कहा,‘‘राज्यपाल को हमारे बिल राष्ट्रपति को मंज़ूरी के लिए भेजने चाहिए थे, परन्तु उन्होंने ऐसा नहीं किया।’’

· मुख्यमंत्री ने एक मीडिया इंटरव्यू के दौरान यह साफ़ किया कि पंजाब की तरफ से नये कानूनों द्वारा अपने किसानों की जि़ंदगी को बर्बाद नहीं होने दिया जायेगा। उन्होंने कहा,‘‘किसानों और उनके परिवारों की मदद करने के लिए हम जो भी संभव हुआ करेंगे और सरकार ने किसानों के लिए दो हैल्पलाईनें भी शुरू की हैं जिन पर वह किसी भी संकट के समय संपर्क कर सकते हैं।’’

· प्रधानमंत्री को ये कृषि कानून वापस लेने और किसानों के साथ बातचीत करने की अपील करते हुए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा,‘‘किसानों ने अपना रूख बिल्कुल स्पष्ट कर दिया है कि कानून रद्द किये जाने चाहिएं। यह भारत सरकार का काम है कि वह किसानों की आवाज़ सुने।’’ उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की तरफ से किसानों के साथ बाकायदा बातचीत और सलाह परामर्श के बाद नये कानून लाए जा सकते हैं। उन्होंने आगे बताया कि संविधान में कई बार संशोधन किया जा चुका है और हाल ही में लागू किये गए खेती कानूनों को रद्द करने के लिए यह संशोधन फिर किया जा सकता है।

· इस पक्ष पर ध्यान देते हुए कि देश भर के किसानों ने खेती कानूनों के खि़लाफ़ प्रदर्शनों में भाग लिया है, कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि 6-7 मीटिंगों के बाद अब समय आ गया है कि किसानों के साथ यह मसला सुलझा लिया जाये जिससे ठंड और बारिश के मौसम का सामना कर रहे किसान वापस जाकर अपनी रोज़मर्रा की जिम्मेदारियां निभा सकें।

· मुख्यमंत्री ने प्रदर्शन कर रहे किसानों को नक्सली और दहश्तगर्द कहने वालों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि ऐसा करना बिल्कुल गलत और ग़ैर-जि़म्मेदार व्यवहार है।

यौनकर्मियों और जीबी रोड, दिल्ली के अन्य निवासियों के लिए चिकित्सा शिविर

0
Medical camp for sex workers and other residents of GB Road, Delhi
Medical camp for sex workers and other residents of GB Road, Delhi the newsroom now

चिकित्सा कर्मचारियों के पैनल केमाध्यम से यौनकर्मियों औरजीबी रोडदिल्ली Medicalcamp sexworkers GBRoad

स्टार्टअप इंडिया के अंतर्गत पंजीकृत www.MedicinesMall.com की ऑफलाइन पॉलीक्लिनिक कम फार्मेसी चेन, *मेडिसिन्स मॉल हेल्थ स्टोर*, फराश खाना, दिल्ली- 06, द्वारा अपने डॉक्टरों और चिकित्सा कर्मचारियों के पैनल के माध्यम से यौनकर्मियों और जीबी रोड, दिल्ली के अन्य निवासियों के लिए चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर में निशुल्क परामर्ष, बीपी जांच, वजन जांच, शुगर जाँच और दवा वितरित की गई। शिविर रविवार को सुबह 12 से शाम 5 बजे तक आयोजित किया गया। इस दौरान लगभग 286 लोगों के अपने स्वास्थ्य की जांच करवाई । शिविर में डॉक्टर पैनल में डॉ पूनम गुप्ता व डॉ एस के हीरा शामिल रहे।

उन्होंने सभी को स्वास्थ्य संबंधि जानकारी उपलब्ध करवाई। साथ ही कोरोना काल में कैसे अपने आप का बचाव कर सकते हैं इस बारे भी अवगत करवाया। इस दौरान शिविर के आयोजक अंकुर अग्रवाल ने कहा कि इस तरह के शिविर का आयोजन CSR के अंतर्गत समय-समय पर किया जाता है। शिविर को सफल बनाने में डॉ पूनम गुप्ता, डॉ एस के हीरा, अर्पित, आसिफ, शिवानी, शादाब ने महत्वपूर्ण भूमिका निभा

ई ।

#Medicalcamp for #sex #workers and other #residents of #GBRoad was #organized by #Polyclinic Cum #Pharmacy chain, #MedicinesMall Health Store*, located at Farash Khana, #Delhi – 06, which is an offline extension of Startup India recognized www.MedicinesMall.com, through its panel of #doctors and medical staff. #Free consultation, BP tests, weight checks, sugar tests were done and medicines were also distributed in this camp. The camp was organized from 12 pm to 5 pm on Sunday. During this, about 286 people got their health checked. Dr. Poonam Gupta and Dr. SK Hera were included in the doctor panel in the camp. During this, the organizer of the camp #AnkurAgarwal said that such camps were organized from time to time under #CSR initiative. #DrPoonam, #DrHeera, Arpit, #Asif, #Shivani and #Shadab played an important role in making the camp a success.

कानपुर गौशाला सोसायटी द्वारा आयोजित गोपा अष्टमी कार्यक्रम

0
दिनांक 22.11.2020 को कानपुर गौशाला सोसायटी द्वारा आयोजित गोपा अष्टमी कार्यक्रम में सत्यदेव पचौरी (सांसद कानपुर नगर), अमिताभ बाजपेई (विधायक आर्यनगर विधानसभा)सलिल विश्नोई(प्रदेश उपाध्यक्ष भा.ज.पा., पूर्व विधायक) रमेश चंद्र मिश्र (आरएसएस नगर समर्पक प्रमुख,पुर्व पार्षद कानपुर नगर),श्याम बाबू गुप्ता, महेश चंद्र मिश्र,अतुल दीक्षित ,आदि लोग उपस्थित थे।

दिनांक 22.11.2020 को कानपुर गौशाला सोसायटी द्वारा आयोजित गोपा अष्टमी कार्यक्रम में सत्यदेव पचौरी (सांसद कानपुर नगर), अमिताभ बाजपेई (विधायक आर्यनगर विधानसभा)सलिल विश्नोई(प्रदेश उपाध्यक्ष भा.ज.पा., पूर्व विधायक) रमेश चंद्र मिश्र (आरएसएस नगर समर्पक प्रमुख,पुर्व पार्षद कानपुर नगरश्याम बाबू गुप्ता, महेश चंद्र मिश्र,अतुल दीक्षित ,आदि लोग उपस्थित थे।

एबीवीपी ABVP अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद पंजाब ने पंजाब सरकार द्वारा किए गए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति स्कैम के मुद्दे पर आज एक विरोध प्रदर्शन मार्च निकाला

0

एबीवीपी ABVP अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद पंजाब ने पंजाब सरकार द्वारा किए गए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति स्कैम के मुद्दे पर आज एक विरोध प्रदर्शन मार्च निकाला और जांच सीबीआई से या हाईकोर्ट के सिटिंग जज से करवाने की मांग को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया और विधानसभा का घेराव करने की कोशिश की।

जिसके बाद विधानसभा के बाहर मौजूद चंडीगढ़ पुलिस के जवानों ने प्रदर्शनकारी एबीवीपी के कार्यकर्ताओं को पीछे खदेड़ दिया और बाद में हिरासत में ले लिया। इस दौरान एबीवीपी के कार्यकर्ताओं और चंडीगढ़ पुलिस के बीच टकराव भी हुआ और दोनों तरफ से धक्का-मुक्की भी हुई। पंजाब विधानसभा में केंद्रीय कृषि अधिनियमों को लेकर एक विशेष विधानसभा सत्र बुलाया गया है लेकिन इस सत्र के दौरान विधानसभा के बाहर एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने पंजाब विधानसभा का घेराव करने के लिए काफी हंगामा किया। दरअसल कुछ दिनों पहले पंजाब में एक स्कॉलरशिप स्कैम की बात सामने आई थी जिसमें एससी स्टूडेंट्स को दिए जाने वाले केंद्र सरकार के स्कॉलरशिप फंड में घोटाले की बात निकली थी और आरोप पंजाब के मंत्री साधु सिंह धर्मसोत पर लगे थे। पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कैम की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए-
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद पंजाब ने पंजाब सरकार द्वारा किए गए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति स्कैम के मुद्दे पर आज एक विरोध प्रदर्शन यानी मार्च किया। कुछ दिनों पहले हुआ यह घोटाला, जिसमें विभिन्न तत्व सामने आए हैं और कुछ अधिकारियों ने चौंकाने वाले खुलासे किए हैं कि साधु सिंह धर्मसोत के विभाग ने लगभग 64 करोड़ रुपये का गबन किया है।
एबीवीपी के राज्य सचिव चिरांशु रतन ने कहा कि इन सभी गतिविधियों को देखकर ऐसा लगता है कि राज्य सरकार को छात्रों के हित की कोई चिंता नहीं है। छात्रवृत्ति उन जरूरतमंद और पिछड़े वर्ग के छात्रों को अध्ययन करने के लिए एक समान अवसर प्रदान करती है लेकिन इस छात्रवृत्ति को उड़ाकर कांग्रेस ने एक बार फिर अपनी छात्र विरोधी मानसिकता और एजेंडा दिखाया है।
आगे उन्होंने कहा कि हम पूरे मामले में निष्पक्ष जांच करने का अनुरोध करते हैं और इसमें जो भी दोषी पाया जाता है उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।
स्पष्ट है कि पिछली दो जांचों को प्रभावित करके मंत्री को क्लीन चिट दे दी गई थी। ABVP दोनों निष्कर्षों को नकारती है और उनकी निंदा करती है। पिछले 10 दिनों से कई विरोध प्रदर्शनों और प्रेस कॉन्फ्रेंसों की, हमारी एकमात्र मांग है कि संबंधित मंत्री रहे साधु सिंह धर्मसोत को इस्तीफा देना चाहिए और उच्चस्तरीय बैठक की निगरानी में जांच का आदेश देना चाहिए। न्यायालय के न्यायधीश जैसा कि हमें अपने संविधान और न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। परिणाम कुछ भी हो, हम उसे स्वीकार करेंगे।
अगर राज्य सरकार हमारी मांग को नजरअंदाज करती है तो हम अपना आवेदन केंद्रीय मंत्री श्री थावर चंद गहलोत के पास ले जाएंगे और उनसे मामले में हस्तक्षेप करने के लिए कहेंगे।
एबीवीपी पंजाब तब तक अपना संघर्ष जारी रखेगा जब तक कि इस घोटाले का तथ्यात्मक परिणाम सामने नहीं आ जाता। प्रदर्शनकारियों में कुदरतजोत कौर (सीडब्ल्यूसी सदस्य), दीक्षा भनोट, प्रिया शर्मा, पारस रतन मौजूद थे। #ABVP #PUNJAB #ABVPPUNJAB

MOST POPULAR

HOT NEWS