पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने हनीप्रीत को जेल भेजने की अनुमति दे दी है।

0
204

पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने हनीप्रीत को जेल से फोन करने की इजाजत दे दी है.
साध्वी यौन शोषण मामले में दोषी करार गुरमीत राम रहीम खास हनीप्रीत को हाईकोर्ट ने बड़ी राहत दी है. पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने हनीप्रीत को जेल से फोन करने की इजाजत दे दी है. हनीप्रीत अब जेल के सरकारी फोन से अपने परिवार वालों से बात कर सकेगी. हनीप्रीत ने इसके लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है.
हनीप्रीत ने नवंबर में हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी. इस याचिका में हनीप्रीत ने जेल से कॉलिंग की सुविधा दिए जाने की गुहार लगाई थी. हनीप्रीत ने याचिका में कहा था कि वो फोन पर अपने भाई और परिवार के अन्‍य सदस्‍यों से बात करना चाहती है.
हनीप्रीत ने याचिका में कहा था कि उसे रोज पांच मिनट मोबाइल से अपने भाई और परिवार के अन्‍य सदस्‍यों से बात करने की अनुमति दी जाए. बता दें कि हरियाणा की जेलों में कैदियों के लिए प्रिजन इनमेट कॉलिंग सिस्टम शुरू किया गया है. इसके जरिये कैदी अपने परिजनों से पांच मिनट तक रोजाना फोन पर बातचीत कर सकते हैं.
इसी आधार पर हनीप्रीत ने पंचकूला एडिशनल जज की अदालत में अर्जी दाखिल की थी लेकिन कोर्ट ने उसे खारिज कर दिया था. उस वक्त हनीप्रीत द्वारा उपलब्ध करवाए गए नंबरों को वेरिफिकेशन के लिए भेजा गया था. जिसके बाद हनीप्रीत ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, यहां से उसे बड़ी राहत मिली है.
पत्रकार रामचंद्र छ्त्रपति हत्या मामले में पंचकूला स्थित विशेष सीबीआई अदालत द्वारा डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को दोषी ठहराए जाने के बाद, हरियाणा सरकार ने गुहार लगाई है के 17 जनवरी को दोषी राम रहीम को वीडिओ कॉन्फ्रेन्सिंग (वीसी) के जरिये कोर्ट में पेश कर सज़ा
सुनाई जाए, जिस पर अब सीबीआई कोर्ट बुधवार 16 जनवरी को सज़ा सुनाएगी।

गौरतलब है की छत्रपति हत्याकांड मामले में गुरमीत राम रहीम व अन्य तीन को दोषी ठहराए जाने के बाद एक बार फिर सुरक्षा को लेकर सरकार के जी को आफत हो गई है और पंचकूला समेत कईं स्थानों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए हैं।

जिसके चलते राज्य सरकार ने याचिका लगा सीबीआई कोर्ट से अनुरोध किया है कि 17 जनवरी को दोषी गुरमीत राम रहीम को वीसी के जरिये कोर्ट में पेश कर सुनाई जाए सज़ा।

सीबीआई कोर्ट में डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी ने सरकार की ओर से लगाई थी याचिका। हरियाणा सरकार द्वारा लगाई गई याचिका पर फैसला 16 जनवरी के लिए सुरक्षित रखा गया।

17 जनवरी को दोषी राम रहीम सहित अन्य तीन दोषियों को सुनाई जाएगी सजा।
रामचंद्र छ्त्रपति हत्याकांड मामला: डेरा प्रमुख फिर बने आफत, सरकार की गुहार वीडिओ कॉन्फ्रेन्सिंग के ज़रिये सुनाई जाए सज़ा, फैसला सुरक्षित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here