जिस कोख से खुद जन्म लिया उसी कोख से दिया अपनी बेटी को जन्म

गर्भाशय ट्रांसप्लांट के जरिए मां बनी,दुनिया की 12वीं संतान ,मां ने अपना गर्भाशय बेटी को दिया

0
401

बेटी ने उसी कोख से अपनी बेटी को दिया जन्म दिया|

मीनाक्षी वाड़ंद ने बेटी को जन्म दिया

32 सप्ताह के गर्भ के साथ बुधवार रात 12.12 बजे मीनाक्षी ने पुणे के नर्सिंग होम में सिजेरियन से बेटी को जन्म दिया। इसके साथ प्रत्यारोपित गर्भाशय से मातृत्व सुख पाने वाली मीनाक्षी भारत और एशिया की पहली महिला बन गई हैं।अपने परिवार व रिश्तेदारों से दूर रहना पड़ा।स्वीडन और अमेरिका में 11 बच्चों का जन्म प्रत्यारोपित गर्भाशय से हुआ।

19 मई 2017 को मीनाक्षी को उनकी मां का गर्भाशय प्रत्यारोपित किया गया था। यानी मीनाक्षी ने जिस गर्भाशय से जन्म लिया, उसी गर्भाशय से उनकी बेटी जन्मी।40 सप्ताह के गर्भ को धारण करना असंभव था|पुणे के गैलेक्सी केयर लेप्रोस्कोपिक हॉस्पिटल के डॉ. शैलेष पुणतांबेकर ने बताया कि गर्भाशय प्रत्यारोपण के बाद अप्रैल 2017 में बिना किसी समस्या के गर्भधारण हुआ। गर्भ 32 हफ्ते (8 माह) का होने के चलते हमें बुधवार रात सिजेरियन से प्रसव का विकल्प चुनना पड़ा। वजह, गर्भाशय 48 साल पुराना है। इसलिए गर्भाशय में ज्यादा जगह नहीं थी। नौ महीने के गर्भ के बाद बच्चे को गंवाने के साथ ही गर्भाशय की पांच सर्जरी झेली। एक सर्जरी के दौरान मीनाक्षी का गर्भाशय हमेशा के लिए अक्षम हो गया। ऐसे में गर्भाशय प्रत्यारोपण का रास्ता अपनाया गया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here